राजस्थान में संभागीय व्यवस्था

Rajasthan gk important questions by jepybhakar

राजस्थान में संभागीय व्यवस्था

♦ राजस्थान में संभागीय व्यवस्था 30 मार्च 1949 में शुरू हुई थी।



♦ राजस्थान में संभागीय व्यवस्था शुरू होने के समय 5 संभाग (जयपुर, जोधपुर, कोटा, उदयपुर, बीकानेर) थे।

1 नवम्बर, 1956 को अजमेर राजस्थान का 26वाँ जिला बनने के साथ ही अजमेर को जयपुर से पृथक करके 6वाँ संभाग बनाया गया।

♦ अप्रेल 1962 में मुख्यमंत्री मोहन लाल सुखाड़िया ने संभागीय व्यवस्था को समाप्त कर दिया था, जिसे मुख्यमंत्री हरिदेव जोशी ने पुनः 26 जनवरी, 1987 को वापिस शुरू किया था।

♦ 4 जून 2005 को मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने भरतपुर को प्रदेश का 7वाँ संभाग बनाया।

जयपुर संभागः- 5 जिले- जयपुर, सीकर, अलवर, दौसा, झुंझुनूँ
* जनसंख्या में सबसे बड़ा
* सर्वाधिक साक्षरता
* सर्वाधिेक जनघनत्व
* सर्वाधिक अनुसूचित जाति की जनसंख्या।
बीकानेर संभागः- 4 जिले- श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू, बीकानेर
* न्युनतम नदीयो वाला।
* सर्वाधिक अनुसूचित जाति की जनसंख्या का अनुपात वाला संभाग।

♦जोधपुर संभागः- 6 जिले- जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर, जालौर, सिरोही, पाली
* सर्वाधिक क्षैत्रफल।
* सर्वाधिक दशकीय वृध्दि।
* न्युनतम जनसंख्या घनत्व
* न्युनतम साक्षरता वाला संभाग।


♦ उदयपुर संभागः- 6 जिले-उदयपुर, बाँसवाडा़, डुगरपुर, प्रतापगढ़, चितौड़गढ़, राजसमंद
* सर्वाधिक लिंगानुपात ऽसर्वाधिक अनुसूचित जनजाति।
* सर्वाधिक कार्यशील जनसंख्या।
* श्रीलका के समान आकार।
* नदीयां का अपवाह तंत्र अरब सागर व बंगाल की खाड़ी दोनो में गिरता है।


♦ कोटा संभागः- 4 जिले- कोटा, बुँदी, बाँरा, झालावाड़।
* सर्वाधिक नदीयो वाला।
* जनसंख्या की दृष्टि से सबसे छोटा संभाग।

♦ अजमेर संभांगः- 4 जिले- अजमेर, नागौर, टांेक, भीलवाड़ा
* केन्द्रीय स्थिति वाला संभाग।
* सभी संभागो की सीमा को स्पर्श करने वाला एकमात्र संभाग।
* आकार जम्मु-कश्मीर जैसा।




♦ भरतपुर संभागः- 4 जिले- भरतपुर, सवाईमाधेपुर, करौली, धौलपुर।

* सबसे नवीनतम संभाग(4 जुन 2005)।
* सबसे छांेटा संभाग।
* सबसे कम लिगानुपात वाला संभाग।

Contact Form

Name

Email *

Message *

Designed By Dharmendar Gour