(11) Rajasthan GK One Liner Questions Answers PDF by jepybhakar

राजस्थान जीके इन हिन्दी, राजस्थान जनरल नॉलेज इन हिंदी, rajasthan gk download, rajasthan gk book pdf download, rajasthan gk in hindi pdf file free download, राजस्थान गक नोट्स इन हिंदी पीडीऍफ़ फ्री डाउनलोड, rajasthan gk mcqs, rajasthan one liner questions answers, rajasthan gk one liner pdf, rajasthan gk in hindi pdf file free download,

मछली पकड़ने का कांटा गणेश्वर पुरातात्विक स्थल से प्राप्त किया गया।

गणेश्वर का टीला सीकर जिले में स्थित है।



पूर्व हड़प्पा कालीन ताम्र युगीन सभ्यता के अवशेष , गणेश्वर से प्राप्त हुए हैं।

देश में लौह युग के प्रारंभ की प्राचीन सीमा रेखा निर्धारण के सूचक साक्ष्य नोह से प्राप्त हुए हैं।



Rajasthan Current GK Last Six Months Part-1 (in Hindi) | (Hindi) Rajasthan Current GK Last Six Months - Unacademy

(Hindi) Rajasthan Current GK Last Six Months


Blood - Introduction RBC, WBC (in Hindi) | (Hindi)General Science - Biology - Unacademy

General Science (In Hindi) - Blood - Introduction and part (rbc, wbc)


( यहां के उत्खनन से सबसे महत्वपूर्ण जानकारी यह मिलती है कि भारत वर्ष में ईसा पूर्व 12 वीं सदी में दोहे का प्रयोग किया जाता था)

भीलवाड़ा जिले में कोठारी नदी के पास 'बागोर' कस्बे के टीले के उत्खनन से मध्य पाषाण कालीन संस्कृति की जानकारी मिलती है।

विराट नगर, पुरातात्विक स्थल महाजनपद काल से मत्स्य जनपद की राजधानी था।(जयपुर जिले के शाहपुरा उपखंड में बेराठ कस्बा प्राचीन काल में विराटनगर के लाता था )

अशोक कालीन ब्राह्मी लिपि की अक्षर युक्ति बैराठ से प्राप्त हुई है।

चीन के प्रसिद्ध यात्री ह्वेनसांग में सन 634 में अपनी यात्रा के दौरान राजस्थान में स्थित बैराठ पुरातात्विक स्थल का भ्रमण किया था।

अशोक कालीन गोल बौद्ध मंदिर व स्तूप 'बीजक पहाड़ी' पर मिले हैं।
(यह मंदिर व स्तूप सन् 1999 में से थे)



Rajasthan Current GK Last Six Months Part-1 (in Hindi) | (Hindi) Rajasthan Current GK Last Six Months - Unacademy

(Hindi) Rajasthan Current GK Last Six Months


Blood - Introduction RBC, WBC (in Hindi) | (Hindi)General Science - Biology - Unacademy

General Science (In Hindi) - Blood - Introduction and part (rbc, wbc)


'सुनारी' में लोहे के अयस्क से लोहा बनाने की प्राचीनतम भट्ठियां मिली थी। (सुनारी , खेतड़ी (झुंझुनू) में है)

बागौर उत्खनन में पांच कंकाल प्राप्त हुए हैं।
(इन प्राप्त कंकालों से स्पष्ट होता है कि शव को दक्षिण-पूर्व से उत्तर- पश्चिम में लिटाया जाता था तथा उसकी टांगों टांगे मोड़ दी जाती थी । सभ्यता के तृतीय चरण में शव को उत्तर- दक्षिण में लिटाने व टांगे सीधी रखने के प्रमाण मिले हैं)

लोहे से बना प्याला राजस्थान के, सुनारी पुरातात्विक स्थल से प्राप्त हुआ है। (सरकार का प्याला संपूर्ण भारत में केवल यहीं से प्राप्त हुआ है)

तिलवाड़ा पुरातात्विक स्थल 'लूनी नदी के किनारे' स्थित है।

आहड़ संग्रहालय उदयपुर में, 4000 वर्ष पूर्व की सभ्यता का प्रदर्शन है।

राजस्थान के झालावाड़ जिले में, विशाल खंडों को काट कर बनाई गई कौलवी की बौद्ध गुफाएं और स्तूप स्थित है।

सिंधु घाटी की सभ्यता स्थल कालीबंगा के निवासी मृतक के शव को गाड़ते थे।
(इसका प्रमाण वहां मिली कब्रगाह का है)

Rajasthan Current GK Last Six Months Part-1 (in Hindi) | (Hindi) Rajasthan Current GK Last Six Months - Unacademy

(Hindi) Rajasthan Current GK Last Six Months


Blood - Introduction RBC, WBC (in Hindi) | (Hindi)General Science - Biology - Unacademy

General Science (In Hindi) - Blood - Introduction and part (rbc, wbc)



बीजक की पहाड़ि, भीम जी की डूँगरी एवं महादेव जी की डूंगरी 'जयपुर जिले' में अवस्थित है ।

मकानों से पानी निकालने की वैज्ञानिक पद्धति ' चक्र कूप'आहड़ सभ्यता की विशेषता थी।
(इस विधि में 15-20 फुट गहरा गड्ढा खोदकर उसमें मिट्टी के घड़ो को एक के ऊपर एक रखकर पानी सोखने का गड्ढा 'शोषण पात्र' बनाया जाता था।)

'बनासियन बुल' मिट्टी से बनी पुरातात्विक वृषभ आकृति को कहते हैं।(बैलों की यह मिट्टी की आकृतियां आहड़ की खुदाई से प्राप्त हुई है)

हड़प्पा तथा मोहनजोदड़ो उत्खनन वरष 1920 -21 से 1922 - 23 है ।

राजस्थान की बनास, बेडच व गंभीरी नदियां प्रस्तर युगीन मानव के निवास से संबंध रखती है।

पश्चिमी राजस्थान में 'श्रीमती बी.आलचिन' इतिहासविद् द्वारा पुरापाषाण कालीन मानव संस्कृति के चिन्ह खोजे गए हैं।

राजस्थान के विराटनगर भानगढ़ ढिगारिया भाग से पुरापाषाण काल की हैंड एक्स ( हाथ कुठार) संस्कृति के अवशेष प्राप्त हुए हैं।

'स्क्रेपर एवम पॉइंट' मध्य पाषाण काल, के विशेष उल्लेखनीय उपकरण रहे हैं।

मेहरगढ़ , अविभाजित भारत का नव पाषाणिक के स्थलों में सबसे प्राचीन स्थल है।

कालीबंगा की सभ्यता, सरस्वती नदी के किनारे फैली थी।
(कालीबंगा पुरातात्विक स्थल प्राचीन सरस्वती(वर्तमान घग्गर) नदी के तट पर है)

Rajasthan Current GK Last Six Months Part-1 (in Hindi) | (Hindi) Rajasthan Current GK Last Six Months - Unacademy

(Hindi) Rajasthan Current GK Last Six Months


Blood - Introduction RBC, WBC (in Hindi) | (Hindi)General Science - Biology - Unacademy

General Science (In Hindi) - Blood - Introduction and part (rbc, wbc)



मानव ने सर्वप्रथम तांबा धातु का प्रयोग करना प्रारंभ किया था।

राजस्थान में विभिन्न स्थलों से प्राप्त प्रागैतिहासिक काल के शैल चित्रों में 'आखेट' दृश्य की बहुलता है।

(राज्य में छाया नदी (बूंदी, चंबल नदी क्षेत्र ,आलनिया( कोटा), विराटनगर( जयपुर), सोहनपुरा (सीकर )तथा हरसोरा (अलवर) आदि स्थानों में चित्रित शैलाश्रय प्राप्त हुए हैं)


Rajasthan Police Paper PDF download click here

Contact Form

Name

Email *

Message *

Designed By Dharmendar Gour