Biology Important One Liner Question In Hindi (Part-9) by Jepybhakar

Biology Important One Liner Question In Hindi (Part-9) by Jepybhakar

159-170. माइंट्रोकोंडिया - इसकी खोज सर्वप्रथम कोलीकर ने की (1880) तथा माइंट्रोकोंडिया नामकरण बेंडा ने किया।
माइंट्रोकोंडिया, बैक्टेरिया तथा नीले-हरे शैवालों की कोशिकाओं को छोड़कर पौधे तथा जंतुओं की समस्त जीवित कोशिकाओं में पाए जाते हैं।
vist more pdf :- www.jepybhakar.com
माइंट्रोकोंडिया वसा-प्रोटीन द्वारा निर्मित बाहरी एवं भीतरी दो झिल्लियों द्वारा घिरा रहता है।
इसकी बाहरी झिल्ली सपाट होती है।
भीतरी झिल्ली के अंदर की तरफ माइटोकॉन्ड्रिया की गुहा में बहुत सी हाथ की अंगुलियों की भांति रचनाएं होती है जिन्हें क्रिस्टी कहते हैं।
163. अंदर की झिल्ली माइट्रोकोंडिया को दो विभिन्न कोष्ठों (Chamber) में विभाजित करती है।
i. वाह्य कोष्ठ (Outer Chamber)
ii. भीतरी कोष्ठ (Inner Chamber)


vist more pdf :- www.jepybhakar.com
164. वाह्य कोष्ठ (Outer Chamber) - बाहरी और भीतरी झिल्ली के बीच का स्थान होता है।

165. भीतरी कोष्ठ (Inner Chamber) - यह भीतरी झिल्ली द्वारा घिरा हुआ बीच का काफी बड़ा स्थान होता है, जिसमें सघन एवं कणिकायुक्त जैलिय पदार्थ भरा रहता है। इस पदार्थ को मैट्रिक्स का जाता है।

166. भीतरी झिल्ली व क्रिस्टी की सतह पर बहुत से सूक्ष्म कण पाए जाते हैं इन्हें 167. F1 कण या ऑक्सीसोंस कहते हैं।
F1 कणों में इलेक्ट्रॉन अभिगमन तंत्र एवम् ऑक्सीकीय फास्फोरिलिकरण में काम आने वाले एंजाइम पाए जाते हैं। इस कारण इलेक्ट्रॉन अभिगमन कण भी कहा जाता है।


vist more pdf :- www.jepybhakar.com
168. माइटोकॉन्ड्रिया को कोशिका का पावर हाउस कहा जाता है क्योंकि यहां पर सभी खाद्य पदार्थ का ऑक्सीकरण होता है परिणाम स्वरूप उर्जा उत्पन्न होती है।
यह ऊर्जा एडिनोसिन ट्राईफास्फेट (ATP) के रूप में होती है तथा इसका निर्माण एडिनोसिन डाईफास्फेट (ADP) एवं अकार्बनिक फास्फेट (P) के संयोग से होता है।
ऊर्जा के साथ साथ पदार्थों के पूर्ण ऑक्सीकरण में कार्बन डाइऑक्साइड एवं जल बनते हैं।


vist more pdf :- www.jepybhakar.com

168. क्रेब्स चक्र (Crebs cycle) माइक्रोकोंडिया के मैट्रिक्स में पूर्ण होता है।


Share:

No comments:

Post a Comment

Designed by Dharmendar Gour