World Milk Day : 1 June (विश्व दुग्ध दिवस)

विश्व दुग्ध दिवस (World Milk Day) प्रतिवर्ष जून महिने की पहली तारीख का मनाया जाता है आज के इस लेख में हम यही जानेगे कि यह दिवस आज के दिन ही क्यो मनाया जाता है एवं यह क्यों महत्वपूर्ण हैं –

संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) द्वारा वैश्विक भोजन के रूप में दूध के महत्व को पहचानने के लिए स्थापित एक अंतर्राष्ट्रीय दिवस है।

खाद्य और कृषि संगठन The Food and Agriculture Organization (FAO)
स्थापना – 16 अक्टूबर, 1945 को क्युबेक सिटी, कनाडा में
मुख्यालय – रोम, इटली
मूल संगठन – संयुक्त राष्ट्र
World Milk Day in India :- भारत में 26 नवम्बर को दुग्ध दिवस के रूप मनाया जाता हैं। क्योंकि इसी दिन वर्ष 1921 में श्वेत क्रांति एवं भारत में दुग्ध उत्पादन के जनक कहे जाने वाले वर्गीज कुरियन का जन्म हुआ था।
वर्गीज कुरियन –
श्वेत क्रांति के जनक एवं मिल्क मैन के नाम से जाने जाते हैं।
जन्म – 26 नवम्बर, 1921 (केरल में) को एवं मृत्यु – 9 सितंबर, 2012 (नडियाद, गुजरात) को।
इनको दुग्ध उत्पादन में भारत को विश्व का सबसे बड़ा उत्पादक बनाने का श्रेय दिया जाता है।
पुरस्कार – विश्व खाद्य पुरस्कार (1989), आॅर्डर आॅफ एग्रीकल्चर मेरिट (1997), पद्म विभूषण (1999), पद्म भूषण (1966), पद्म श्री (1965), रेमन मैग्सेसे पुरस्कार (1964)

World Milk Day first time ‎Celebrations :- विश्व दुग्ध दिवस सर्वप्रथम 1 जून 2001 को एफएओ द्वारा नामित किया गया था। 1 जून को इस दिवस को मनाने के लिए इसलिए निर्णय लिया गया क्योंकि कई देश इस दिन को पहले से ही दुग्ध दिवस के रूप में मना रहे थे।

Why does the human body require milk – दूध हमारे शरीर के लिए सभी जरूरी पोषक तत्त्व के आवश्यक स्त्रोत है। इसमें कैल्सियम, मैग्नीशियम, फाॅस्फोरस, जिंक, आॅयोडीन, आइरन, पोटेशियम, फोलेट्स, विटामिन ए, डी, राइबोफ्लेविन, बी12 इत्यादि विटामीन, प्रोटीन और स्वस्थ वसा आदि मौजूद होते है।

दुध शरीर को तुरंत ऊर्जा उपलब्ध कराने वाला उच्च ऊर्जायुक्त आहार है।

हैशटैग का उपयोग किया गया -#WorldMilkDay #EnjoyDairy #WorldMilkDay2021

More Important Links :-

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here